Sam Bankmen Fried Ki Khani | 100 Million Par Day

दोस्तों, आपने Bitcoin के बारे में तो सुना ही होगा? और ये भी सुना होगा कि आजकल बहुत सारे लोग crypto में इन्वेस्ट करके हर महीने लाखों की कमाई कर रहे हैं। Even कुछ cases में तो crypto ने लोगों को अरबपति भी बनाया है। और ऐसे ही एक व्यक्ति की कहानी हम आज आपको सुनाने वाले हैं। जिसने सिर्फ 30 साल की उम्र में ही crypto में इन्वेस्ट करके बिलियंस ऑफ डॉलर्स की net worth बना ली है।

सैम बैंकमैन फ्रिड: क्रिप्टो अरबपति की कहानी।

असल में हम बात कर रहे हैं famous American entrepreneur, investor और crypto की दुनिया के सबसे अमीर इंसान सैम बैंकमैन-फ्रीड (sam bankman fried) के बारे में। जिनकी नेट वर्थ इस समय 29 बिलियन डॉलर्स से भी ज्यादा है।

और सबसे ज़्यादा हैरानी की बात तो ये है कि crypto दुनिया में बिलियन डॉलर्स की कमाई करने वाले सैम को crypto के बारे में अभी पांच साल पहले ही पता चला था। यानी 2017 से पहले सैम Crypto में इन्वेस्ट करना तो दूर इसके बारे में ठीक से जानते तक नहीं थे।

2017 में पहली बार इन्होंने bitcoin के बारे में जाना व इस फील्ड में काम करना शुरू किया। और आज सिर्फ 5 साल के बाद ये दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी crypto एक्सचेंज कंपनी, FTX के फाउंडर व CEO हैं।

एक इंटरव्यू में सैम ने कहा था कि वो हमेशा से ही अमीर बनना चाहते थे। और खूब सारा पैसा कमाकर उन पैसों को चैरिटी और एनिमल वेलफेयर के लिए डोनेट करना चाहते थे। लेकिन 2017 से पहले तक उनकी हालत ऐसी नहीं थी कि वो किसी की हेल्प के लिए कुछ डोनेट कर सकें। ऐसे में सवाल ये उठता है कि आखिर इतने कम समय में सैम ये सब कैसे कर पाए? जानने से पहले चलिए हम आपको सैम की पर्सनल लाइफ के बारे में थोड़ा बताते हैं।

सैम बैंकमैन फ्रिड: की निजी ज़िंदगी।

दरअसल सैम का जन्म साल 1992 के दौरान स्टैंनफोर्ड, कैलिफ़ोर्निया में हुआ था। उनके माता-पिता दोनों ही law university के proffessors हैं।

परिवार में सैम के अलावा उनका एक छोटा भाई भी है। इनके पेरेंट्स हमेशा से सैम और उनके भाई के फ्यूचर के बारे में बहुत केयर करते थे। सैम कहते हैं कि दुनिया को जानने और crypto जैसे नए कॉन्सेप्ट्स को डिस्कवर करने में उनके ऊपर उनके पेरेंट्स का बहुत Influence रहा।

सैम ने 2014 में MIT से ग्रेजुएशन किया। और कॉलेज से passout होने तक वे crypto की दुनिया से पूरी तरह अंजान थे। ग्रेजुएशन करने के बाद सैम ने एक ट्रेडिंग फर्म में काम करने के लिए try किया। जहाँ उन्हें Finance और Investing के बारे में बहुत सारी बातें पता चली। और यहीं से उन्होंने quantitative finance के बारे में भी समझा।

2017 के दौरान bitcoin की मार्किट में ज़बरदस्त उछाल की वजह से पहली बार सैम का ध्यान इस पर गया। और उन्होंने तुरंत ही इसके बारे में जानना शुरू कर दिया। इसको समझने के दौरान उन्होंने नोटिस किया कि अलग-अलग देशों के नियम-कानूनों व restrictions की वजह से bitcoin की वैल्यू अलग-अलग देशों में different-different रहती थी। फॉर एग्ज़ाम्पल जब अमेरिका में एक बिटकॉइन की वैल्यू 10,000 डॉलर्स पर पहुँची तब जापान में इसकी वैल्यू 11,000 डॉलर्स को क्रॉस कर चुकी थी। सैम को यहाँ पर एक बहुत बड़ा loophole नज़र आया। और उन्होंने तुरंत ही इसका फायदा उठाने का प्लान बनाना शुरू कर दिया।

आर्बिट्रेज ट्रेडिंग

इसके लिए उन्होंने arbitrage trading सीखी और फिर फुल टाइम ट्रेडर बन गए। अब आप में से काफी सारे लोगों को arbitrage trading के बारे में पता ही नहीं होगा। इसलिए हम आपको बता दें कि जब दो अलग-अलग मार्केट्स के स्टॉक के प्राइस में डिफरेंस का फायदा उठाया जाता है। तो उसे arbitrage trading कहते हैं। आसान शब्दों में कहे तो इसमें, पहले एक्सचेंज में lower प्राइस पे स्टॉक ख़रीदे जाते हैं। और फिर दूसरे एक्सचेंज में higher अमाउंट में उन स्टॉक्स को बेच दिया जाता है। और फिर उससे जो डिफरेंस क्रिएट होता है वही ट्रेडर के लिए उसका प्रॉफिट होता है। अब सैम ये चीज़ पहले ही देख चुके थे कि अलग-अलग देशों के क्रिप्टो एक्सचेंज में बिटकॉइन का प्राइस बहुत ज़्यादा अलग रहता है। ऐसे में उन्होंने crypto मार्किट के अंदर arbitrage trading शुरू कर दी। और देखते ही देखते सिर्फ कुछ ही सालों में 20 बिलियन डॉलर्स की कमाई कर डाली।

इसके बाद साल 2019 में उन्होंने अपने इन कमाए हुए पैसों से एक crypto exchange कंपनी की शुरुआत की जिसका नाम उन्होंने FTX रखा। और सिर्फ 2 सालों में ही उनकी इस कंपनी को दुनिया की टॉप 5 क्रिप्टो एक्सचेंज में गिना जाने लगा। जहाँ आज उनकी इस कंपनी की net worth 40 billion dollars को क्रॉस कर चुकी है। फेसम बिज़नेस मैगज़ीन forbes की तरफ से सैम को “one of the youngest billionaires under 30” का tittle दिया गया है। February 2022 कि एक रिपोर्ट के मुताबिक सैम की crypto exchange company, FTX, का डेली ट्रेडिंग volume 10 बिलियन डॉलर्स के आस-पास है। और इसके यूज़र्स की गिनती 1 मिलियन को क्रॉस कर चुकी है।

अब जैसा कि हमने आपको शुरुआत में ही बताया था। कि सैम हमेशा ही अपने पैसों को charity और कुछ दूसरे अच्छे कामों में लगाना चाहते थे। ऐसे में crypto billionaire बनने के बाद से वो लगातार animal welfare, COVID-19 और global warming जैसे नेक कामों के लिए बड़ी-बड़ी डोनेशन कर चुके हैं। और साथ ही उन्होंने ये संकल्प लिया है कि एक दिन वो अपनी सारी संपत्ति इसी तरह के कामों के लिए डोनेट कर देंगे। इतनी कम उम्र में ये सब हासिल कर लेना, वाकई तारीफ के लायक है।

सैम की ये कहानी हम सभी को एक बहुत बड़ा मैसेज देती है। कि किसी काम के पीछे अपनी पूरी लाइफ लगा देने से ही उस फील्ड में हमें सक्सेस मिले, ऐसा जरूरी नहीं है। आज की इस एडवांस दुनिया में हमें हार्ड वर्क से ज़्यादा स्मार्टवर्क की तरफ ध्यान देना चाहिए। क्योंकि स्मार्टवर्क ही वो रास्ता है जिस पर चलकर इंसान 50 साल में मिलने वाली success को भी सिर्फ 5 साल में हासिल कर सकता है।

दोस्तों सैम की ये कहानी आपको कैसी लगी? हमें कॉमेंट करके जरूर बताएं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.